खेल

यूपी के पांच खिलाड़ी हॉकी के राष्ट्रीय कैम्प में

पुरुषों की हॉकी टीम को जून में नीदरलैण्ड में चैंपियन्स ट्रॉफी खेलनी है। वहीं महिलाओं को जुलाई में लंदन में विश्व कप खेलना है। इसके लिए देश भर से 48 महिला और इतने पुरुष खिलाड़ी चुने गए हैं जो इसके लिए तैयारी करेंगे। इनमें से अंतिम टीमें चुनी जाएंगी। इन खिलाड़ियों में पांच उत्तर प्रदेश के हैं। महिलाओ में लखनऊ हॉस्टल की पूर्व खिलाड़ी वंदना कटियार व गोरखपुर की प्रीति दुबे शामिल हैं। वहीं पुरुषों वाराणसी के ललित उपाध्याय व गोलकीपर प्रशांत चैहान तथा करमपुर के राजकुमार पाल शामिल हैं।
दोनों टीमों कैम्प शुरू हो गया है। पुरुषों को चैंपियन्स ट्रॉफी व महिलाओं को वर्ल्ड कप के बाद अगस्त में जकार्ता में होने वाले एशियाई खेल में हिस्सा लेना है। हॉकी इण्डिया इन्हीं में से एशियाई खेल के लिए भी टीमों का चयन करेगा।
वंदना कटियार: फारवर्ड
लखनऊ हॉस्टल की पूर्व खिलाड़ी वंदना कटियार अरसे से भारतीय टीम की प्रमुख खिलाड़ी बनी हुई हैं। फारवर्ड वंदना ओलंपिक, इसके पूर्व एशियाई खेल, विश्व हॉकी लीग, हाल ही में एशिया चैंपियन्स ट्रॉफी खेल चुकी हैं। वहीं पिछली बार अपनी कप्तानी में भारत को चैंपियन्स ट्रॉफी का विजेता भी बना चुकी हैं। दक्षिण कोरिया में हुई एशियन चैंपियन्स ट्रॉफी में वह सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनी गईं। साथ ही बेस्ट स्कोरर भी रहीं।
प्रीति दुबे: फारवर्ड
फारवर्ड लाइन में खेलने वाली प्रीति दुबे गोरखपुर की रहने वाली हैं। गोरखपुर में हॉकी की एबीसीडी सीखने वाली प्रीति दुबे स्पोर्ट्स कॉलेज गोरखपुर और ग्वालियर अकादमी की ट्रेनी रही हैं। कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में वह भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। रियो ओलंपिक व इंचियोन एशियाई खेल में भारत की तरफ से खेलीं। पिछले साल चार देशों की हॉकी प्रतियोगिता में भारतीय टीम की कप्तान बनकर आस्ट्रेलिया गई थीं।
ललित उपाध्याय: फारवर्ड
वाराणसी से ताल्लुक रखने वाले ललित उपाध्याय मौजूदा समय देश के उम्दा फारवर्डों में एक हैं। वह अरसे से भारतीय टीम के लिए खेल रहे हैं। एशिया कप में उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाया। भारतीय टीम को खिताब दिलाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। वर्ल्ड हॉकी लीग में भी उनका खेल बेहतरीन रहा। उन पर एक बार फिर चयनकर्ताओं ने भरोसा जताया है।
राजकुमार पाल: मिडफील्डर
करमपुर हॉकी की नई पौध तैयार करने के लिए जाना जाता है। यहीं की देन हैं राजकुमार पाल। राजकुमार पाल साई सेंटर लखनऊ में ट्रेनिंग करते हैं। वह भारतीय जूनियर टीम की तरफ से कई अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। इसी साल उनका चयन सीनियर कैम्प के लिए हुआ था। हॉकी इण्डिया ने फिर उनका चयन बेंगलुरु में लगे कैम्प के लिए किया है।
प्रशांत कुमार चैहान: गोलकीपर
वाराणसी के प्रशांत कुमार देश के प्रतिभाशाली गोलकीपरों में एक हैं। उन्हें कैम्प में श्रीजेश, विकास दहिया, कृष्ण बहादुर पाठक जैसे गोलकीपरों के सात कैम्प में जगह दी गई है। इसके पूर्व प्रशांत जूनियर टीम के हिस्सा थे। संभवतरू यह पहला मौका है जब उन्हें सीनियर टीम के कैम्प में जगह दी गई है।