संजीवनी

किसी संजीवनी से कम नहीं है खाली पेट लहसुन खाना

खाली पेट सेवन से लहसुन के गुण बढ़ जाते है। डायरिया के इलाज के लिए कारगर होता है। लोग इसे एक औषधि के रूप में जानते हैं। बहुत सारे औषधिय गुणों से भरपूर है लहसुन।
लहसुन एक जड़ी बूटी है। भोजन को स्वादिष्ट बनाने वाले मसाले के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन यह वास्तव में कई प्रकार की बीमारियों को रोकने और इलाज में काफी कारगर होता है। इसकी गंध बहुत ही तेज और स्वाद तीखा होता है। लहसुन में एलियम नामक एंटीबायोटिक होता है जो बहुत से रोगों के बचाव में लाभप्रद है। नियमित लहसुन खाने से ब्लडप्रेशर कम या ज्यादा होने की बीमारी नहीं होती। एसिडिटी की समस्या में इसका प्रयोग बहुत ही लाभदायक होता है। कई अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि खाली पेट लहसुन का सेवन करने से इसकी शक्ति और भी बढ़ जाती है और यह बेहद मजबूत प्राकृतिक एंटीबायोटिक बन जाता है।
कई लोगों ने पाया कि लहसुन उच्च रक्तचाप के लक्षणों से वास्तव में आराम पहुंचाता है। यह न केवल रक्त परिसंचरण को नियंत्रित करता है बल्कि विभिन्न प्रकार की हृदय संबंधी समस्याओं से भी बचाता है और इसके आपके लीवर और ब्लैडर के सभी कार्य भी ठीक से होते हैं।
लहसुन पेट की समस्याओं के उपचार में वास्तव में बहुत प्रभावी है यह अच्छे पाचन और भूख को बढ़ाने में मदद करता है। लहसुन के सेवन से पेट के तनाव को नियंत्रित करने में मदद मिलती है और इस तरह से घबराहट के कारण शरीर में बार‑बार पैदा होने वाले एसिड का उत्पादन बंद हो जाता है।
लहसुन इतना शक्तिशाली होता है कि यह परजीवी और कीड़े से शरीर को साफ करता है और मधुमेह, अवसाद, और यहां तक कि कुछ प्रकार के कैंसर जैसी बीमारियों से भी बचाता है। लहसुन श्वसन तंत्र के लिए अच्छा होता हैरू यह टीबी, दमा, निमोनिया, सर्दी, ब्रोंकाइटिस, पुरानी ब्रोन्कियल सर्दी, फेफड़ों में संक्रमण और खांसी की रोकथाम और इलाज के लिए अच्छा होता है।
ट्यूबरक्लोसिस की समस्या होने पर सुबह खाली पेट लहसुन खाना बहुत फायदेमंद होता है। दांत के दर्द में लहसुन का सेवन फायदेमंद होता है। यदि कीड़ा लगने से दांत में दर्द हो तो आप लहसुन के टुकड़ों को गर्म करें और उन टुकड़ों को दर्द वाले दांत पर रखकर कुछ देर तक दबाएं। ऐसा करने से दांत का दर्द ठीक हो जाता है। फ्लू यानी इन्फलुएन्जा में सुबह उठकर गर्म पानी के साथ लहसुन और प्याज का रस पीने से फ्लू से निजात मिलता है। लहसुन पूरी तरह से एंटीबायोटिक है। इसलिए फोड़े होने पर लहसुन को पीसकर उसकी पट्टी बांधने से फोड़े मिट जाते हैं। टीबी और खांसी जैसी बीमारियों को दूर करने में लहसुन लाभकारी है। लहसुन के रस की बूंदों को रूई में भिगोकर सूंघने से सर्दी ठीक हो जाती है। ‑वेब

About the author

BSN

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement