लखनऊ

धमाकों से दो मकान ढहे, बाप बेटी के चीथड़े उड़े

लखनऊ। काकोरी क्षेत्र में एक मकान के बेसमेंट में चल रही अवैध पटाखा फैक्ट्री में सोमवार सुबह ताबड़तोड़ कई विस्फोट हुए। धमाकों से दो मकान ढह गए और विस्फोटक बना रहे नासिर (45) व उसकी बेटी नसरीन उर्फ मोनी (19) के चीथड़े उड़ गए। पड़ोस के दूसरे मकान के अंदर नमकीन फैक्ट्री में काम कर रहे मजदूर रामफेरन (28) की भी मौत हो गई। उसका ममेरा भाई राम प्रसाद व पड़ोस स्थित एक अन्य मकान में काम कर रहे दो मजदूर घायल हो गए। क्प्ळ स्-व् प्रवीण कुमार ने बताया कि 2017 से नासिर ने लाइसेंस नहीं लिया था, अवैध फैक्ट्री चल रही थी, हीलाहवाली के मद्देनजर चैकी इंचार्ज और 2 सिपाही सस्पेंड किये गये हैं।
एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक ठाकुरगंज के फरीदीनगर में रहने वाले नासिर ने काकोरी के सैंथा गांव मुन्ना लाल खेड़ा निवासी संजय लोधी के मकान को छह माह पूर्व किराए पर लिया था। नासिर वहां अवैध रूप से पटाखा फैक्ट्री चला रहा था। बेसमेंट में उसने पटाखों का भंडारण कर रखा था। पड़ताल में पता चला है कि सोमवार सुबह करीब 10 बजे नासिर और उसकी बेटी नसरीन बेसमेंट में पटाखे बना रहे थे। इस बीच करीब 10रू30 बजेकई विस्फोट हुए। धमाकों से बेसमेंट, दीवार और छत उड़ गई।
एडीजी जोन राजीव कृष्णा, आाजी रेंज सुजीत पांडेय, एसएसपी दीपक कुमार समेत कई अधिकारियों और फोरेंसिक टीम, बम निरोधक दस्ते ने मौके का निरीक्षण किया। पुलिस और दमकल के सम्मिलित रेस्क्यू से मलबा हटाया गया। फोरेंसिक एक्सपर्ट ने विस्फोटक के टुकड़े और अन्य सामग्री का कब्जे में लेकर जांच के लिए भेज दिया। डीआइजी कानून व्यवस्था प्रवीण कुमार ने संबंधित बीट के प्रभारी और दो सिपाहियों को देर शाम सस्पेंड कर दिया। ‑वेब