लखनऊ

ट्रैफिक लोड के अनुसार ही सड़क पर दौड़ेंगी सवारी गाड़ियां

ल्खनऊ। राजधानी में जल्द ही रोड की क्षमता और ट्रैफिक लोड के अनुसार ही सवारी गाड़ियां चल सकेंगी। पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए मेट्रो जैसी सुविधा शुरू होने के बाद शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए सवारी वाहनों के रूट तय करने की कवायद शुरू की गई है। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस एक महीने से कैमरों की मदद से पूरे शहर के यातायात पर नजर रखे हैं। सुबह से रात तक अलग-अलग इलाकों के ट्रैफिक लोड में होने वाले बदलाव की रिपोर्ट तैयार की जा रही है। इसके अनुसार ज्यादा दबाव वाले समय में वाहनों के रूट तय किए जाएंगे।
शहर में बेतरतीब फर्राटा भर रहे सवारी वाहनों को जाम की सबसे बड़ी वजह माना जा रहा है। हालांकि लोगों की सुविधा को देखते हुए रोक लगाना संभव नहीं है। मेट्रो का काम काफी हद तक पूरा होता देख अधिकारियों ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट का विकल्प बने ऑटो, टेम्पो, ई‑रिक्शा और पैडल रिक्शों को व्यवस्थित तरीके और निर्धारित रूट पर चलाने की अनुमति देने की योजना बनाई है।
कैब से सफर करने वाले पुराने शहर के वाशिदों को योजना लागू होने से काफी दिक्कत हो सकती है। दरअसल पुराने इलाकों में रेडियो टैक्सी को भी निर्धारित रूट पर ही चलने की इजाजत देने की योजना है। ऐसे में घनी आबादी के बीच रहने वालों को कैब पकड़ने के लिए तय रूट तक आना पड़ेगा। ‑वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement