लखनऊ

1090 पर गुब्बारे बेचने वाले बच्चे का मिला शव

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सबसे व्यस्त चौराहे 1090 पर मिली एक 10 साल के बच्चे की लाश के मामले में पुलिस की जांच में एक नई जानकारी सामने आई है। मृतक के साथ गुब्बारे बेचने वाले एक अन्य बच्चे ने पुलिस को एक अहम जानकारी दी है। बच्चे ने बताया कि 1090 चौराहे पर वसूली करने वाले एक दिव्यांग युवक ने दो दिन पहले बच्चे को जान से मारने की धमकी दी थी। मृतक भी 1090 चौराहे पर गुब्बारे बेचता था।
बच्चे द्वारा पुलिस को दी गई जानकारी के अनुसार, 1090 चौराहे पर एक दिव्यांग युवक वसूली करता है। युवक ने दो दिन पहले मासूम से कहा था कि आगे भी चौराहे पर गुब्बारा बेचने के लिए उसे रुपये देने पड़ेंगे। रुपये न देने पर युवक ने बच्चे को जान से मारने की धमकी दी थी। पीड़ित परिवार को शक है कि कहीं उसी युवक ने तो वारदात नहीं की है।
मासूम के दोस्त ने पुलिस को बताया कि सोमवार रात को वे लोग चौराहे पर गुब्बारे बेच रहे थे। कुछ देर के तक मृतक का बड़ा भाई भी साथ में था, लेकिन मां के डर से थोड़ी देर बाद घर चला गया था। दोस्त के मुताबिक उसने मासूम से घर चलने के लिए कहा था। लेकिन वह घर वापस जाने को तैयार नहीं था। कुछ दूर तक साथ जाने के बाद मृतक दोस्त के साथ धक्का-मुक्की कर भाग गया था।
मासूम की हत्या के मामले में हजरतगंज पुलिस 1090 चौराहे पर लगे कंट्रोल रूम के सीसीटीवी कैमरों से अहम सुराग मिलने की उम्मीद कर रही है। पुलिस की एक टीम को सीसीटीवी फुटेज देखने के लिए भेजा गया है। पुलिस सोमवार रात आठ बजे से मंगलवार दोपहर तक की फुटेज चेक कर रही है। पुलिस की एक टीम चौराहे के पास ठेले लगाने वाले लोगों से भी पूछताछ कर रही है। पुलिस को उम्मीद है कि उन लोगों से पूछताछ में अहम सुराग मिल सकता है। ‑वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement