देश

एक ही परिवार के 5 लोगों की रहस्मय तरीके से मौत

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में एक ही परिवार के एक ही घर में पांच लोगों के शव मिलने की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। सोमवार को बंद हुआ घर का दरवाजा जब देर शाम तक नहीं खुला तो पड़ोसियों ने पुलिस को बुलाया। पुलिस ने जब दरवाजा तोड़ा तो अंदर पति-पत्नी और तीन बेटियों की डेडबॉडी मिली। मामला इलाहबाद के धूमन गंज इलाके के पीपल गांव का है। यहां मनोज कुशवाहा अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ रहता था। सोमवार सुबह को 11 बजे घर का दरवाजा बंद हुआ था जो देर रात तक नहीं खुला। साथ ही काफी तेज आवाज में म्यूजिक बज रहा था तो पड़ोसियों को कुछ शक हुआ।
मौके पर पहुंची पुलिस ने जब घर का दरवाजा तोड़ा तो पहले कमरे में सबकुछ सामान्य था लेकिन दूसरे कमरे में पहुंचते ही पुलिस को अंदर हैरान करने वाला मंजर दिखा। पंखे से मनोज का शव लटक रहा था जबकि जमीन पर छोटी बच्ची मृत पड़ी थी। पुलिस ने घर की तलाशी शुरू की तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं। आलमारी में आठ साल की बड़ी बेटी प्रीति का शव रखा हुआ था।
इसके बाद पुलिस को आगे की तलाशी में जो कुछ मिला वो और भी हैरान करने वाला था। लोहे की पुरानी अटैची में तीन साल की छोटी बेटी श्रेया की लाश छिपा कर रखी हुई थी। पुलिस ने घर की तलाशी और आगे बढ़ाई तो फ्रिज में पत्नी श्वेता का शव मिला। इस तरह पुलिस को घर के अंदर से एक-एक कर सभी पांच सदस्यों के शव मिले।
घर के अंदर से सभी पांच सदस्यों के शव मिलने की खबर से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। घर के बाहर आसपास रहने वालों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने भी खोजी कुत्तों की टीम को बुलाया फिर शव को एक-एक कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। आशंका है सभी को गला दबा कर मारा गया था। ऐसे में आशंका ये है कि तीनों बेटी और पत्नी की हत्या के बाद मनोज ने खुदकुशी की है।
फिलहाल पुलिस इस सनसनीखेज वारदात के लिए पारिवारिक झगड़े को जिम्मेदार मान रही है लेकिन साथ ही ये भी कह रही है कि मौत की सही वजह का पता पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अलावा परिवार और पड़ोसियों से पूछताछ के बाद ही साफ हो सकेगा। मनोज के परिवार से जुड़े लोग बदहवासी के आलम में है। किसी को भी इस बात पर यकीन नहीं हो रहा कि पत्नी से झगड़े की वजह से पति ने पत्नी और बेटियों की गला दबाकर हत्या कर दी और फिर अपनी जान भी दे दी। ‑वेब