देश

राहुल गांधी के बयान पर बीजीपी ने किया पलटवार

नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विदेश यात्रा के दौरान बीजेपी पर करारा हमला किया. बीजेपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राहुल गांधी के हमले का करारा जवाब दिया. बीजेपी ने कहा कि राहुल गांधी विदेशी दौरे में भारत के बारे में बोल रहे हैं वो कहीं न कहीं उनकी अपरिपक्वता, अक्षमता को दर्शाता है. 1984 में हुए कत्लेआम जो हुआ वो सिर्फ बातों से नहीं धुलने वाला है. बीजेपी नेता आरपी सिंह ने कहा कि राहुल गांधी जी ने एक बार भी नहीं कहा कि 1984 के हुए सिखों पर कत्लेआम में जिन लोगों पर आक्षेप है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.
आरपी सिंह ने कहा कि राहुल जी कह रहे थे मेरी सोच गुरुनानक जी से मिलती है, लेकिन सिख समुदाय को लगता है कि देश को बांटो और राज करो कि कांग्रेस नीति से राहुल की सोच मिलती है. राहुल गांधी जी आपको इतिहास की जानकारी कम है. गुरुनानक जी ने कहा था इतना मार पड़ रही है और आपको दर्द नहीं हो रहा, 1984 में गुरुनानक जी होते तो यही कहते. राहुल जी कभी आपने ये कहा कि 84 दंगों के कसूरवार को सजा मिले. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी सिखों के वोट के लिए ऐसी बात कह रहे हैं।
बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि राहुल गांधी आप सबसे ज्यादा विदेश यात्रा करते है और भारत की अर्थव्यवस्था के बारे में वहां ज्ञान दे रहे है. राहुल गांधी ने महिलाओं के बारे में टिप्पणी की, उनको ज्ञान नहीं है या वो समझना ही नहीं चाहते है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सब कुछ बांटा है और अब विदेश में जाकर देश का अपमान कर रहे है. एक नासमझ और नादान नेता अपनी पार्टी को जहां पहुंचा चुके हैं वहां अब अपने देश को वहां पहुंचाना चाहते हैं. केरल की बाढ़ पर कुछ छुद्र राजनीति कर रहे है और कुछ कांग्रेसी नेता संयुक्त राष्ट्र से मदद मांग रहे है.
सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि प्रणब दा जब संघ के कार्यालय गये तब कांग्रेस के लोगो ने उनकी आलोचना की, लेकिन जब सिद्धू पाकिस्तान गए और वहां के आर्मी चीफ से मिले तो उनके समर्थन में कांग्रेस आ गई. आज रतन टाटा भी मोहन भागवत के साथ मंच साझा कर रहे है. राहुल गांधी को अपने बुजुर्ग नेताओं से ही सीख लेनी चाहिए. ‑वेब