लखनऊ

लखनऊ में दिन दहाड़े गुंडागर्दी

लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में बुधवार रात दो सगे भाई इमरान (20) व अरमान (18) को दौड़ा-दौड़ाकर डंडों और लकड़ियों से पीटा गया और बाद में उन्हें गोली से उड़ा दिया गया।
करीब छह बदमाश मुसाहिबगंज की भीड़ भरी बस्ती में दोनों को पीटते रहे लेकिन कोई बचाव में नहीं आया। जहां वारदात हुई वहां से थाना महज 500 मीटर दूर है। वारदात के बाद लोगों के आक्रोश को देखते हुए आठ थानों की पुलिस मौके पर तैनात कर दी गई।
इमरान भाई अरमान व दोस्त निशांत के साथ रेहान के घर बीमार पिता को दवा देने गए थे। वहां से लौटते समय ठाकुरगंज चौराहा से चाय लेकर बंधा रोड की तरफ जा रहे थे। जलसंस्थान के पास पीछे से एक बाइक व कार से आए बदमाशों ने कैब को ओवरटेक करके रोका। गाड़ी चला रहे अरमान के बगल वाली सीट पर बैठे इमरान से नोकझोंक की। कैब की पिछली सीट पर बैठा निशांत माजरा समझता, इससे पहले दोनों भाई गाड़ी से उतर कर भागे।
बदमाशों ने उन पर डंडे से हमले करने के साथ ही ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। कार से करीब 20 मीटर दूर दोनों भाई खून से लथपथ होकर गिर गए। जान बचाकर भागे निशांत ने उनके परिवारीजनों को जानकारी दी।
ठाकुरगंज थाने की टीम ने खून से लथपथ पड़े दोनों युवकों को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दोहरे हत्याकांड से इलाके में रोष फैलते देख चौक, वजीरगंज, सआदतगंज थाने से फोर्स बुला ली गई। देर रात छह और थानों से फोर्स वहां बुला ली गई। ‑वेब