लखनऊ

लखनऊ चिड़ियाघर का नाम बदल सकती है योगी सरकार

लखनऊ। फैजाबाद व इलाहाबाद शहरों का नाम बदले जाने के बाद अब यूपी सरकार नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान का नाम बदल सकती है। कयास लगाए जा रहे हैं कि यह प्राणि उद्यान पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम समर्पित किया जाएगा। लखनऊ जू कॉन्क्लेव में पत्रकारों से बातचीत में वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने बताया कि इस पर सरकार विचार कर रही है। विभाग सही समय पर फैसला लेगा।
लखनऊ की शान नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान का नया नामकरण अटल जयंती पर हो सकता है। 25 दिसंबर को पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिवस है। सूत्रों की मानें तो योगी सरकार इसी दिन प्राणि उद्यान को नया नाम देगी।
लखनऊ प्राणि उद्यान की स्थापना वर्ष 1921 में की गई थी। इंग्लैण्ड के राजकुमार प्रिंस ऑफ वेल्स के लखनऊ आगमन के अवसर पर इसका नाम प्रिंस ऑफ वेल्स जूलोजिकल गार्डन रखा गया था। 4 जून 2001 को इसका नाम परिवर्तित कर लखनऊ प्राणि उद्यान किया गया। पूर्ववर्ती सपा सरकार ने 23 जून 2015 को लखनऊ प्राणी उद्यान (लखनऊ चिड़ियाघर) का नाम नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान कर दिया था। शाह अवध के आखिरी नवाब थे। आजादी के बाद से यह पहली घटना थी जब किसी स्मारक का नाम अवध या अवध के नवाब के नाम पर रखा गया था। ‑वेब