देश

असलहा खरीदने के लिए बेचा सोना


नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी की ओर से किए गए खुलासे में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। जानकारी के अनुसार पकड़े गए संदिग्धों में से दो असलहों का इंतजाम करने के लिए सोना बेचने लखनऊ आए थे। एनआईए ने सिटी स्टेशन के करीब एक घर में महिला से पूछताछ की है।
बताया जा रहा है कि महिला का बेटा फेसबुक के जरिए कुछ लोगों से जुड़ा था। फेसबुक चैट के दौरान ही एक युवक ने घर में बीमारी का बहाना बनाकर उसके पास रखा सोना बिकवाने के लिए मदद मांगी थी। इसके बाद दो युवक लखनऊ आए थे और महिला ने उन्हें पुराने लखनऊ में चौक के अकबरी गेट स्थित एक ज्वैलरी की दुकान पर ले जाकर उसका सौदा कराया था।
एटीएस और एनआईए की टीम ने उन दोनों स्थानों पर छापेमारी कर संबंधित लोगों से पूछताछ की है और लैपटॉप व मोबाइल जब्त किए हैं। एजेंसियां यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि लखनऊ का युवक, महिला और दुकानदार यह सब जानबूझ कर रहे थे या फिर अनजाने में। एजेंसी ने लखनऊ में दो स्थानों पर छापेमारी की थी।
मास्टर माइंड अमरोहा निवासी मो. सुहैल आईएसआईएस के संगठन ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ का अमीर (मुखिया) बताया जा रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि अमरोहा में विस्फोटक तैयार किया जा रहा था।
सूत्रों का कहना है कि आने वाले दिनों में इन दोनों का इस्तेमाल फिदाइन हमले के लिए किया जाना था। मो. इरशाद और शाकिब को भी इसी ग्रुप से जोड़ लिया गया था और इन्हें जेहाद से संबंधित साहित्य उपलब्ध कराए गए थे। यह ग्रुप पहले फेसबुक के जरिए और बाद में व्हाट्सएप और टेलीग्राम के जरिए एक दूसरे के संपर्क में रहता था। ‑वेब