देश

पीएम मोदी के विदेशी दौरों पर खर्च हुए करीब 2 हजार करोड़ रुपये, भारत विदेशी निवेश में आई बढ़त

नई दिल्ली। जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं यानी 2014 से अब तक पीएम मोदी के विदेश दौरे पर करीब 2 हजार करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. सरकार ने संसद में जो सूचना मुहैया कराई है, उसके मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जून 2014 से विदेश यात्रा के दौरान चार्टर्ड उड़ानों, विमानों के रखरखाव और हॉटलाइन सुविधाओं पर कुल 2,021 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं.
राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह ने यह जानकारी दी. उन्होंने राज्यसभा में जवाब के तहत साल 2014 और 2018 के बीच प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किए गये विदेशी दौरों की भी जानकारी दी. उन्होंने उन टॉप 10 देशों की भी जानकारी दी, जहां से भारत को अधिकतम प्रत्यक्ष विदेशी निवेश या एफडीआई आमद प्राप्त हुआ है.
मोदी सरकार ने 4 साल में सरकारी योजनाओं के विज्ञापन पर खर्च किए 5245.73 करोड़। मोदी सरकार में मंत्री वीके सिंह ने कहा कि 2014 में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश 30,930.5 मिलियन अमरीकी डॉलर से बढ़कर 2017 में 43478.27 मिलियन अमरीकी डॉलर हो गया.
केंद्रीय मंत्री द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, यूपीए‑2 के दौरान 2009-10 से 2013–14 तक मनमोहन सिंह की विदेश यात्राओं के दौरान चार्टर्ड उड़ानों, विमानों के रखरखाव और हॉटलाइन सुविधाओं पर 1,346 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे.
केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने मनमोहन सिंह के आधिकारिक विदेश दौरों से संबंधित सवालों के जवाब में यह जानकारी दी, जिसमें पूछा गया कि आखिर 2009 से 2014 तक मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री के रूप में कितने खर्च हुए और 2014 के बाद से पीएम मोदी के विदेश दौरों में कितने खर्च हुए.
आंकड़ों के मुताबिक, 2014–15 में विदेशी दौरों के लिए चार्टर्ड विमानों पर लागत रु 93.76 करोड़ थी, जबकि 2015–16 में यह 117.89 करोड़ रु हो गया. वहीं 2016–17 में 76.27 करोड़ और 2017–18 में 99.32 करोड़ रुपये हो गया. दरअसल, मई 2014 में प्रधानमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण करने के बाद से पीएम मोदी ने 48 विदेश यात्राओं में 55 से अधिक देशों का दौरा किया. उन्होंने कुछ देशों में कई दौरे किए. च्ज्प्ए ॅम्ठ