देश

राफेल का सौदा यूपीए के मुकाबले 2.86 फीसदी सस्ता

नई दिल्ली। राफेल मामले में बुधवार को कैग की रिपोर्ट संसद में पेश की गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि एनडीए सरकार का सौदा यूपीए के मुकाबले 2.86 फीसदी सस्ता है। हालांकि सरकार दावा कर रही थी यह सौदा 9 फीसदी सस्ता है। रिपोर्ट में मूल्य पर छह भागों में रिपोर्ट पेश की गई। डिलिवरी शेड्यूल के मामले में भी रिपोर्ट में एनडीए के सौदे को 5 महीने बेहतर बताया गया है।
राफेल डील को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है। काफी समय से नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट का इंतजार था, जो बुधवार को संसद में पेश की गई। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि ज्यादा पैसे देकर राफेल डील की गई। हालांकि एनडीए ने कहा है कि 36 लड़ाकू विमानों की यह डील कम से कम 9 फीसदी सस्ती है। हालांकि कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि यह 2.86ः ही सस्ता था। 2007 में यूपीए ने 126 नए एयरक्राफ्ट का सौदा किया था जिनमें से 18 उड़ने की स्थिति में मिलने थे और बाकी 108 विमान भ्।स् के सहयोग से बनाए जाने थे। हालांकि एनडीए सरकार ने 36 राफेल विमानों का सौदा किया, जो फ्रांस की कंपनी दसॉ से ही मिलने हैं। विपक्ष इस बात को लेकर आक्रामक होता रहा है कि सरकार एक तरफ मेक इन इंडिया की बात करती है ‑वेब