विदेश

ऊपर वाला जब देता, देता छप्पड़ फाड़ के

वॉशिंगटन, अमेरिका। न्यूजर्सी के फिल्सबर्ग शहर में एक युवक ने 27 करोड़ डॉलर यानि करीब 2 हजार करोड़ रुपये की लॉटरी जीती। वह भी अपने खोये हुए टिकट की बदौलत जिसे अजनबी ने उसे लौटाया था। यहां तक कि उसे लॉटरी खुलने के दो दिन बाद तक खबर नहीं मिली।
पिछले 15 सालों से बेरोजगारी काट रहे माइकल जे वियरस्की ने एक दुकान से लॉटरी ड्रॉ निकलने से ठीक एक दिन पहले दो टिकट खरीदे थे। मीडिया से बातचीत में माइकल ने बताया कि जब वह टिकट खरीद रहे थे तो ज्यादातर समय उनका ध्यान अपने फोन पर था। इसी दौरान उन्होंने टिकट के पैसे दिए और उन्हें टेबल पर छोड़कर ही निकल गए।
घर पहुंचने पर माइकल को जेब में टिकट नहीं मिले। काफी तलाश करने के बाद उन्हें लगा कि अब कुछ नहीं हो सकता। हालांकि एक आखिरी कोशिश के तौर पर वे लॉटरी की दुकान पर पहुंचे। वहां पता चला कि काउंटर पर एक अजनबी को टिकट मिले थे लेकिन उसने ईमानदारी दिखाते हुए वे दुकानदार को लौटा दिए। हालांकि माइकल से लंबी पूछताछ के बाद ही उन्हें टिकट लौटाया गया।
माइकल को ड्रॉ निकलने के दो दिन बाद तक इसकी सूचना नहीं मिली। उनकी मां की दोस्त ने इसकी जानकारी दी। माइकल ने जब लॉटरी टिकट स्क्रैच किए तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। माइकल ने कहा कि वे 15 सालों से बेरोजगार हैं। इस दौरान वह अपनी पूर्व पत्नी के पैसों पर ही निर्भर थे। अक्टूबर में उनका तलाक हो गया था। ऐसे में एक पार्ट टाइम बिजनेस के जरिए वह सिर्फ अपने खाने.पीने और लॉटरी टिकट खरीदने जितना ही कमा पाते थे। जिस दिन उन्हें इनाम जीतने के बारे में पता चला उस समय शहर में बर्फीला तूफान आया था। इसके बावजूद माइकल बिना देर किए इनाम पर दावा करने पहुंच गए। ‑वेब