राज्य

नेताओं के बिगड़े बोल पर चुनाव आयोग की सख्ती

चुनाव आयोग ने बड़े नेताओं के बिगड़े बोल पर सख्ती दिखाई है। आयोग ने सोमवार को बसपा सुप्रीमो मायावती और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के चुनाव प्रचार करने पर 48 घंटे की रोक लगाने का फैसला किया। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सपा नेता आजम खां 72 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे। रोक के बाद मंगलवार को सुबह करीब 9 बजे योगी आदित्यनाथ लखनऊ के एक हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना करने पहुंचे।
आयोग ने इन चारों नेताओं के प्रचार के दौरान सांप्रदायिक और अभद्र बयान देने की शिकायतों पर संज्ञान लिया और अलग-अलग आदेश जारी किए। फैसले के मुताबिक मायावती और योगी आदित्यनाथ पर प्रतिबंध की मियाद मंगलवार सुबह छह बजे से शुरू होगी। वहीं आजम और मेनका पर आयोग का आदेश मंगलवार सुबह दस बजे से लागू होगा। आयोग ने इन नेताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि वे प्रतिबंधित अवधि में किसी भी जनसभा, पदयात्रा या रोड शो में हिस्सा नहीं ले सकेंगे। वे प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कोई साक्षात्कार भी नहीं दे सकेंगे। चुनाव आयोग ने अनुच्छेद 324 के तहत मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए ये सख्त आदेश जारी किए। ‑वेब