देश

सत्ता का फैसला देश के पांच राज्यों के हाथो में

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के चैथे चरण की 72 संसदीय सीटों पर वोटिंग जारी है. देश के 36 राज्यो में से 24 राज्य की सीटों पर सोमवार को चुनाव पूरी तरह से समाप्त हो जाएंगे. इनमें देश की कुल 543 लोकसभा सीटों में से 271 सीटें शामिल हैं. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी दोबारा से सत्ता में वापसी के लिए बेताब है, जबकि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस अपनी खोई हुई सियासी जमीन को वापस पाने की कवायद में है. अब सत्ता का फैसला देश के पांच राज्य तय करेंगे.
देश में उत्तर प्रदेश के बाद सबसे ज्यादा सीटें महाराष्ट्र में हैं. यहां कुल 48 लोकसभा सीटें हैं, जिनमें से शुरुआती तीन चरण में 31 सीटों पर वोट डाले जा चुके हैं. बाकी बची 17 सीटों पर चैथे चरण में सोमवार को वोटिंग हो रही है. पिछले चुनाव में बीजेपी-शिवसेना ने कांग्रेस‑एनसीपी का पूरी तरह से सफाया कर दिया था. बीजेपी 23 और शिवसेना 18 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. जबकि कांग्रेस को 2, एनसीपी को 4 और स्वाभिमान पक्ष को 1 सीट मिली थी. इस बार के चुनाव में दोनों गठबंधन के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा है. ऐसे में केंद्र की सत्ता में महाराष्ट्र की भूमिका अहम होगी.
तमिलनाडु की कुल 39 लोकसभा सीटों में से 38 पर दूसरे चरण में मतदान पूरा हो गया है. वेल्लोर सीट पर चुनाव लड़ रहे एक उम्मीदवार के घर से कैश बरामद होने के चलते चुनाव स्थागित कर दिए थे, जिस पर मतदान बाद में होगा. राजनीतिक रूप से तमिलनाडु काफी महत्वपूर्ण राज्य माना जा रहा है. 2014 के चुनाव में ।प्।क्डज्ञ को 37, च्डज्ञ को 1 और बीजेपी को 1 सीट मिली थी. हालांकि इस बार कांग्रेस‑क्डज्ञ और बीजेपी-।प्।क्डज्ञ मिलकर चुनावी मैदान में उतरी हैं.
आंध्र प्रदेश की 25 और तेलंगाना की 17 लोकसभा सीटों पर पहले चरण में ही वोट डाले जा चुके हैं. इन दोनों राज्य में मिलाकर कुल 42 सीटें हैं. इस बार की सत्ता को तय करने में आंध्र और तेलंगाना की अहम भूमिका रहेगी. 2014 के लोकसभा चुनाव में इन 42 सीटों में से टीडीपी 16, टीआरएस 11, वाईएसआर कांग्रेस 9, बीजेपी 3, कांग्रेस 2 और ।प्डप्ड को 1 सीट मिली थी. ऐसे में आंध्र और तेलंगाना के चुनावी नतीजे काफी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं.
गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर तीसरे चरण में वोटिंग हुई है. 2014 चुनाव में सभी 26 सीटें बीजेपी जीतने में सफल रही थी. इस बार के चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा है. ऐसे में गुजरात के नतीजों पर सभी की निगाहें होगी. वहीं, केरल की सभी 20 लोकसभा सीटों पर तीसरे चरण में वोट डाले जा चुके हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 8, सीपीआईएम 5, मुस्लिम लीग 2. निर्दलीय 2, केरल कांग्रेस 1, आरएसपी 1 और सीपीआई 1 सीटें जीतनें कामयाब रही थी. इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी केरल की वायनाड सीट से चुनावी मैदान में उतरे थे. ऐसे में माना जा रहा है कि चुनावी नतीजे सत्ता तय करने में अहम भूमिका रही है.
कर्नाटक की 28 लोकसभा सीटों पर दूसरे और तीसरे चरण में मतदान हुए हैं. इस तरह से सभी सीटों पर वोटिंग हो चुकी है. 2014 के चुनाव में बीजेपी 17, कांग्रेस 9 और जेडीएस 2 सीटें जीती थी. इस बार कांग्रेस और जेडीएस मिलकर चुनावी मैदान में उतरी हैं, बीजेपी के सामने कड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है.
ओडिशा की कुल 21 लोकसभा सीटों में से 15 सीटों पर शुरुआती तीन चरण में वोट डाले जा चुके हैं और बाकी 6 सीटों पर चैथे चरम में वोटिंग चल रही है. 2014 के चुनाव में बीजेडी 19 और बीजेपी 2 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. इस बार के लोकसभा चुनाव में सभी की निगाहें ओडिशा में है और बीजेपी राज्य से बड़ी उम्मीदें लगा रखी है. केंद्र की सत्ता बनाने में ओडिशा की अहम भूमिका मानी जा रही है.
असम की 14 सीटों पर शुरुआती तीन चरण में वोटिंग पूरी हो चुकी है. 2014 में बीजेपी 7, कांग्रेस 3, एआईयूडीएफ 3 और एक सीट निर्दलीय ने जीती थी. इस बार के चुनावी में कांग्रेस और बीजेपी के बीच काटें का मुकाबला है. ऐसे ही उत्तराखंड की पांच सीटों पर पहले चरण में ही वोटिंग हो चुकी हैं. 2014 में बीजेपी पांचों सीट जीतने में कामयाब रही थी. इस बार बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई है. छत्तीसगढ़ की 11 सीटों पर शुरुआती तीन चरण में वोट डाले जा चुके हैं. पिछले चुनाव में बीजेपी 10 और कांग्रेस एक सीट जीती थी. इस बार की बदली सरकार में बीजेपी के लिए कांग्रेस कड़ा मुकाबला दे रही है.
पूर्वोत्तर के सभी राज्यों में लोकसभा चुनाव पूरे हो चुके हैं. त्रिपुरा की दो सीटों पर वोटिंग हो चुकी है. 2014 में दोनों सीटें लेफ्ट जीती थी. सिक्किम, नागालैंड और और मिजोरम में एक-एक सीटें हैं, यहां मतदान हो चुके हैं. इसके अलावा मेघालय, अरुणाचल, गोवा और मणिपुर में दो-दो सीटें हैं, यहां पर भी वोटिंग पूरी हो चुकी है. यहां के चुनावी नतीजों पर सभी की निगांहे हैं.
देश की सात केंद्र शासित राज्यों में से 5 पर वोट डाले जा चुके हैं. इनमें पुडुचेरी, दादर नगर हवेली, लक्ष्यद्वीप, अंडमान निकोबार और दमनद्वीप की एक-एक सीट पर लोकसभा की वोटिंग पूरी हो चुकी है. इस बार के चुनाव में यहां बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई नजर आ रही है.
लोकसभा चुनाव 2019 के चैथे चरण की 72 संसदीय सीटों पर वोटिंग जारी है. देश के 36 राज्यो में से 24 राज्य की सीटों पर सोमवार को चुनाव पूरी तरह से सामाप्त हो जाएंगे. इनमें देश की कुल 543 लोकसभा सीटों में से 271 सीटें शामिल हैं. ‑वेब