लखनऊ

पहली बार लखनऊ में पॉलीथिन से सड़क बनना शुरू

लखनऊ। पहली बार पॉलीथिन से सड़क बनाना शुरू हो गई है। एक किमी सड़क के निर्माण में साढ़े सात लाख निष्प्रयोज्य पॉलीथिन बैग का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसका वजन करीब एक टन है।
सड़क के निर्माण में प्राधिकरण अब तारकोल के साथ 10 फीसद प्लास्टिक वेस्ट का इस्तेमाल करेगा। जिसको लेकर केंद्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान (सीआरआरआइ) की सिफारिशों पर प्राधिकरण ने अमल करना शुरू किया है। जिससे पर्यावरण का संरक्षण भी हो सकेगा। एलडीए कबाड़ मार्केट और अपनी कॉलोनियों से निकलने वाले कूड़े से ये प्लास्टिक प्राप्त करेगा। सेक्टर सात गोमती नगर विस्तार में ये सड़क बनाना शुरू की जाएगी।
एलडीए भी इस दिशा में कदम बढ़ा रहा है। प्राधिकरण के मुख्य अभियंता इंदुशेखर सिंह ने बताया कि करीब एक किमी सड़क के निर्माण हम 10 टन तारकोल का इस्तेमाल करते हैं। अब हम 10 फीसद पॉलीथिन यानी करीब एक टन प्लास्टिक कचरा इसमें लगाएंगे। एक टन प्लास्टिक कचरे में औसत आकार के करीब साढ़े सात लाख पॉलीथिन बैग आ जाते हैं। ऐसे में सड़क निर्माण के दौरान प्लास्टिक का बड़ा उपयोग संभव है। उन्होंने बताया कि पुलिस हेडक्वार्टर गोमती नगर विस्तार में हम प्लास्टिक कचरे से पहली सड़क का निर्माण करेंगे। इसके बाद आइआइएम रोड पर भी सड़क प्लास्टिक कचरे से ही बनाई जाएगी। एलडीए उपाध्यक्ष प्रभु एन सिंह ने इस शुरुआत को लेकर खुशी जाहिर की है। ‑वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement