लखनऊ

आगरा एक्सप्रेसवे पर हुआ दर्दनाक हादसा

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस‑वे पर शुक्रवार सुबह डबल डेकर बस चंबल सेंड से भरे ट्रक में घुस गई। भीषण हादसे में दो महिला, दो बच्चों सहित आठ लोगों की मौत हो गई। 54 बस यात्री जख्मी हो गए। 15 घायलों को इलाज के लिए एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है। देर रात एक महिला ने और दम तोड़ दिया। मृतकों में सिर्फ एक की पहचान हो सकी है। बस बिहार से जयपुर जा रही थी।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यात्रियों से भरी डबल डेकर बस पीछे से ट्रक में जा घुसी थी। दुर्घटना इतनी भीषण थी कि बस सवार पांच लोगों ने मौके पर दम तोड़ दिया। एक महिला और बच्चे की इमरजेंसी में मौत हुई। 37 घायलों को फतेहाबाद में ही भर्ती कराया गया था। 17 को उपचार के लिए आगरा के एसएन मेडिकल अस्पताल में भेजा गया था। यहां तीन की हालत गंभीर बनी हुई थी।
सीओ फतेहाबाद प्रभात कुमार के मुताबिक बस सीतामढ़ी (बिहार) से जयपुर जा रही थी। जिसमें करीब 70 सवारियां थीं। बस में सवार अधिकांश लोग जयपुर में मजदूरी करते हैं, जो अपने काम पर जा रहे थे।
एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती घायलों ने पुलिस को बताया कि सुबह हादसे के वक्त बस करीब सौ की स्पीड में दौड़ रही थी। जिस वक्त एक्सप्रेस वे पर हादसा हुआ, चंबल सेंड से भरा ट्रक काफी धीमी गति से जा रहा था। बस ने पीछे से ट्रक में टक्कर मारी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बस और ट्रक का एक तरफ का हिस्सा ही गायब हो गया। राहगीरों ने कंट्रोल रूम पर सूचना दी। ग्रामीण और पुलिस मदद के लिए पहुंचे। उन्होंने घायलों को बस से बाहर निकाला। ‑वेब