लखनऊ

लखनऊ आये सीरियल किलर सोहराब की हो रही थी मेहमान नवाज़ी

दिल्ली पुलिस की अभिरक्षा में तिहाड़ जेल से पेशी के लिए लखनऊ आए सीरियल किलर सोहराब को पुलिस ने बुधवार दोपहर पत्नी शन्नो और बहन यासमीन के साथ बिरयानी की दावत उड़ाते दबोच लिया। वह ऐशबाग स्टेशन के पास श्री होटल के एक कमरे में रुका था। दो अन्य कमरों में दिल्ली पुलिस के जवान भी आराम फरमा रहे थे। पुलिस टीम ने सोहराब, उसकी पत्नी, बहन और पुलिसकर्मियों के साथ होटल के मैनेजर अंकित मिश्रा को भी गिरफ्तार किया है। एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि सोहराब को कमरा दिलाने वाले चारबाग के पार्किंग स्टैंड संचालक सोनू रावत की तलाश में दबिश जारी है।
दोपहर करीब तीन बजे सोहराब चारबाग के रिटायरिंग रूम से चला गया। एसएसपी कलानिधि नैथानी को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने एएसपी पश्चिम के साथ सीओ कैसरबाग, सीओ चौक और सीओ बाजारखाला को खोजबीन के निर्देश दिए।
पुलिस अधिकारियों के साथ नाका और अमीनाबाद कोतवाली की टीम ने श्री होटल से सोहराब को दबोच लिया। वह कमरा नंबर 206 में रुका था, जबकि कमरा नंबर 201 और 202 में दिल्ली पुलिस के जवान आराम फरमा रहे थे। सोहराब के साथ कमरे में पत्नी शन्नो और बहन यासमीन थी।
एएसपी पश्चिम ने बताया कि कुख्यात अपराधी को होटल में ऐश कराते हुए पकड़े गए दिल्ली पुलिस के छह जवानों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों को रिपोर्ट भेजी जाएगी। सोहराब के कमरे में जैसे ही पुलिस घुसी, हड़कंप मच गया। पत्नी शन्नो, बहन यासमीन व भांजा एनकाउंटर के डर से रोने लगे। हालांकि, सोहराब पर कोई असर नहीं पड़ा। वह बेड पर आराम से बैठकर बिरयानी खाता रहा। पुलिसकर्मियों ने उसे साथ चलने को कहा तो बोला, जहां कहेंगे वहां चलता हूं। पहले घर से आई बिरयानी तो खा लूं। ‑वेब