लखनऊ

फर्जी नाम से बैंक को 80 लाख रुपये का चूना

लखनऊ, जेएनएन। पुलिस ने मंगलवार को शहर में दो बड़े जालसाजों को पकड़ा। एक जालसाज ने फर्जी नाम से बैंक को 80 लाख रुपये का चूना लगाया था। जबकि तीन करोड़ रुपये की जालसाजी करने वाले को हसनगंज पुलिस ने गिरफ्तार किया।
विकासनगर पुलिस ने दंपति के साथ मिल कर बैंक ऑफ महाराष्ट्र से 80 लाख रुपये का लोन हासिल करने वाले ठग को पकड़ा है। इंस्पेक्टर विकासनगर धीरज शुक्ल ने बताया कि वर्ष 2015 में बैंक ऑफ महाराष्ट्र से हजरतगंज निवासी कारोबारी सुमित कुमार ने आंचल ट्रेडर्स के नाम पर 80 लाख रुपये का लोन लिया था। लोने के समय गारंटर फैजुल्लागंज निवासी अशोक वाजपेयी ने अपने को ताराचंद्र बताते हुए दस्तावेज जमा किए थे। उसने ताराचंद्र के नाम से गांरटी के तौर पर मकान के कागज भी लगाए थे।
लोन लेने के बाद व्यापारी ने किस्त जमा करना बंद कर दिया। इस पर बैंक ने फर्म की पड़ताल की, लेकिन उसका पता नहीं चल सका। इस पर गारंटी के तौर पर गिरवी रखे गए मकान को बेचकर लोन की रकम हासिल करने का प्रयास किया गया। जांच में पता चला कि मकान की असली मालिक ओडिशा की कंचन श्रीवास्तव हैं। पुलिस ने फैजुल्लागंज से अशोक वाजपेयी को गिरफ्तार किया। वहीं इससे पहले पुलिस सुमित को गिरफ्तार कर चुकी है। इस मामले में महिला अंजुलता और आंचल की भूमिका की जांच की जा रही है। ‑वेब