लखनऊ

व्यापारी संगठन ने किया प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू का समर्थन

प्रधानमंत्री के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के समर्थन में शहर के व्यापारिक संगठनों ने बाजारों को दो दिन बंद करने का फैसला किया है। भूतनाथ बाजार और अमीनाबाद की स्टेशनरी बाजार व्यापारियों ने तो एहतियातन शुक्रवार को ही बंद करा दी। दो दिन की बंदी के दौरान सब्जी मंडी, मोहल्ले-मोहल्ले लगने वाली सब्जी की दुकानें, मेडिकल स्टोर, गैस समेत किराना स्टोर खुले रहेंगे।
कोरोना वायरस से बचने और प्रधानमंत्री की जनता कर्फ्यू वाली अपील के बाद शहर के व्यापारियों ने स्वयं आगे बढ़कर कोरोना से लड़ाई पर मोर्चा संभाला है। व्यापारिक संगठनों ने शहर की सभी बाजारों को दो दिन के लिए बंद करने का ऐलान कर दिया। लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्र ने बताया कि लोग एक दूसरे से ज्यादा न मिलें और कोरोना से बचाव करें इसलिए संगठन ने शहर की सभी बाजारों को बंद करने का निर्णय लिया है। बंदी के बावजूद शहर में सभी मेडिकल स्टोर, सब्जी, दूध के साथ ही घरेलू जरूरत वाले सामानों की दुकानें खुली रहेंगी किसी को कोई परेशानी नहीं होगी। व्यापारी आम जनता के साथ है।
भूतनाथ बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष देवेन्द्र गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार को बाजार के व्यापारियों से बातचीत की गई। उन्हें कोरोना वायरस के बारे में जानकारी भी दी गई और उससे बचने के उपायों पर विचार किया गया जिसमें लोगों से मिलना जुलना कम करना सबसे महत्वपूर्ण तथ्य है। इसके बाद व्यापारियों ने सबकी सहमति से बाजार को बंद करने का फैसला किया।
चैक सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाशचन्द्र जैन ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए एहतियातन चैक सर्राफा को बंद करने का फैसला किया है। संगठन के कोषाध्यक्ष राहुल गुप्ता ने बताया कि देशहित में शनिवार से ही बाजार को बंद करके कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हम तैयार है। इस बैठक में विनोद महेश्वरी, रामकुमार वर्मा, पंकज अग्रवाल समेत अन्य लोग मौजूद रहे।
स्टेशनरी विक्रेता एवं निर्माता एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह चैहान ने बताया कि गुईन रोड स्थित स्टेशनरी बाजार शुक्रवार की शाम सात बजे से ही बंद करने का फैसला किया गया। अब स्टेशनरी बाजार शनिवार और रविवार दोनों दिन पूरी तरह से बंद रहेगी। सुरेश छबलानी ने बताया कि संगठन की तरफ से कोरोना वायरस से सुरक्षा की दृष्टि से शुक्रवार से ही बाजार बंद करने की अपील जारी की गई है। सामाजिक उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष रामबाबू रस्तोगी ने कहा कि जनता कफ्र्यू के लिए लोगों को घरों से नहीं निकलना चाहिए। बाजारों में पूर्ण बंदी के लिए व्यापारियों को सहयोग करें। — वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement