लखनऊ

तीन हजार कुंतल आटा पहुंचाया गया

लखनऊ। आटा की कमी को पूरा करने के लिए शहर की पांच मिलों से शहर में लगभग तीन हजार कुंतल आटा पहुंचाया गया। इन मिलों से पहुंचाया गया आटा फुटकर बाजार में 30 रुपये प्रतिकिलो के भाव तक ही बेचा जा सकेगा। इसके साथ ही शहर की चिह्नित की गई लगभग 20 बड़ी आटा चक्कियों को भी सोमवार से गेहूं 25.50 रुपये के भाव में दिया जाएगा। जिससे गली-मोहल्लों में भी आटा की कमी को दूर किया जा सके।
लॉकडाउन के बाद प्रशासन की पहल पर शहर की पांच आटा मिले एक हफ्ते के अन्दर लगभग दस हजार टन आटा तैयार करेंगी। मंडी समिति के सचिव संजय सिंह ने बताया कि सोमवार को पीसीएफ से इन मिलों को दस हजार टन गेहूं 2550 रुपये कुंतल के दाम से उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे शहर में आटा की कमी को पूरा किया जा सके। उन्होंने बताया कि रविवार को ही इन मिलों ने अपने स्टॉक से लगभग तीन हजार कुंतल आटा शहर के थोक कारोबारियों को उपलब्ध कराया है।
गली-मोहल्लों में आसानी से आटा सही दाम पर मिल सके इसकी भी तैयारी पूरी कर ली गई है। मंडी सचिव ने बताया कि शहर के चारों कोनों में 20 बड़ी आटा चक्कियों को चिह्नित किया जा चुका है। जिन्हें सोमवार को भी 2550 रुपये कुंतल के दाम पर गेहूं उपलब्ध कराया जाएगा। इनमें प्रमुख रूप से चिनहट की जगन्नाथ आटा चक्की, रिंग रोड और पारा की आटा चक्की शामिल हैं। ‑वेब