लखनऊ

बेखौफ घूम रहे दो मौलानाओं को गिरफ्तार किया गया

लखनऊ में राजाबाजार के बाग मक्का इलाके में तबलीगी जमात से लौटे दो मौलानाओं को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर अस्पताल में भर्ती कराया। दो मौलानाओं की जांच रिपोर्ट आने तक परिवारवालों को भी आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई। चार दिन पहले जमात से लौटे दोनों मौलाना इलाके में बेखौफ होकर घूम रहे थे। इसकी जानकारी जब क्षेत्रीय लोगों को हुई तो हड़कंप मच गया। कोरोना संदिग्ध मानकर उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोपहर 11.30 बजे डाक्टरों की मौजूदगी में दोनों मौलानाओं को अस्पताल भेज दिया। पुलिस उनका दिल्ली निजामुद्दीन मरकज कनेक्शन भी तलाशने में जुटी हैं।
क्षेत्रीय लोगों के मुताबिक राजाबाजार बाग मक्का में रहने वाले मौलाना अतीक और उनके मित्र एजाज अक्सर तब्दीगी जमात में जाया करते हैं। लोगों का कहना है कि अतीक अभी दो दिन पहले ही किसी जमात से लौटे हैं जबकि उनका साला चार दिन पहले आया है। जमात से आने के बाद अतीक ने इसकी जानकारी प्रशासन को नहीं दी। वह बेखौफ होकर पूरे इलाके में टहल रहे थे। जब इलाके के लोगों को इसकी जानकारी हुई तो हड़कंप मच गया। लोगों ने इसकी जानकारी चैक पुलिस को दी। दोपहर को डाक्टरों की टीम पुलिसबल के साथ इनके आवास पहुंची। जहां जांच के लिए दोनों को केजीएमयू भेजा गया है। पुलिस के मुताबिक दोनों मौलाना घर के बजाए मस्जिद में रह रहे थे। यह दोनों अभी हाल ही में फैजाबाद व अयोध्या से तब्लीगी जमात से लौटे हैं। इनमें कोरोना के लक्षण नहीं नजर आ रहे थे। एहतियात के तौर पर इनकी जांच कराई जा रही है। — वेब