देश

तबलीगी जमात मुख्यालय के मुखिया मौलाना मो. साद कांधलवी को पकड़ने की तैयारी

Maulana Saad Kandhwali

नई दिल्ली। निजामुद्दीन बस्ती स्थित मरकज तबलीगी जमात मुख्यालय के मुखिया मौलाना मो. साद कांधलवी को पकड़ने की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। खबरें आ रही हैं कि, क्राइम ब्रांच की टीम मौलाना मो. साद और उनके साथ एफआईआर में नामजद बाकी लोगों से पूछताछ को सोमवार की शाम या फिर मंगलवार को ही मौलाना साद के अड्डे पर धमक सकती है। खास बात यह है कि, पूछताछ के दौरान क्राइम ब्रांच की टीम अपने साथ डॉक्टर्स की टीम भी रख सकती है, ताकि ऐन मौके पर मौलाना और उसके साथी किसी भी बहाने का सहारा न ले पाएं।
यह तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां रविवार को दिल्ली पुलिस अपराध शाखा सूत्रों से ही एजेंसी के हाथ लगीं। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम को आशंका है कि, ऐन वक्त पर मौलाना मो. साद पुलिस का सामना करने से बचने के लिए कई बहाने बना सकता है।
मसलन, वो अभी तुरंत होम कोरोंटाइन से बाहर निकला है। लिहाजा ऐसे में तुरंत पूछताछ में सहयोग दे पाने में असमर्थ है। साथ ही मौलाना साद दूसरे बहाने के बतौर 13–14 होम कोरोंटाइन में रहने के चलते जमात मुख्यालय के बारे में कुछ न मालूम होने और अपने सहयोगियों से बातचीत करने के लिए भी टाइम मांगने का बहाना कर सकता है।
होम‑कोरोंटाइन के दौरान मौलाना साद और उसके साथियों ने कानून का सहारा लेकर अग्रिम जमानत का भी इंतजाम तो किया होगा? पूछने पर इसी अधिकारी ने कहा, कानून सबके लिए मुहैया है। जो भी हो आरोपियों को हमारे नोटिसों के जबाब में इंवेस्टीगेशन तो ज्वाइन करना ही होगा। अब तक हमें यही बताया जाता रहा है कि, मुख्य आरोपी होम कोरोंटाइन है। होम कोरोंटाइन का वक्त गुजरने के बाद पुलिस मुख्य आरोपी से पूछताछ कर सकती है।’ — वेब