राज्य

विस्फोटक कार के मालिक का भाई गिरफ्तार

श्रीनगर। IED से भरी कार मिलने के मामले में एक बड़ी कार्रवाई हुई है. पुलिस ने सफेद सेंट्रो कार के मालिक हिदायतुल्ला के भाई को गिरफ्तार किया है दो शोपियां का रहने वाला है. आतंकी हिदायतुल्ला 2019 से ही हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा हुआ है. पुलवामा जैसे हमले को दोहराने की साजिश में इस कार का इस्तेमाल किया जाना था लेकिन वक्त रहते कार को सुरक्षाबलों ने पकड़ लिया और फिर उसे ब्लास्ट कर उड़ा दिया. उधर, आतंकियों ने विस्फोटक से भरी कार के लिए कठुआ की जिस बाइक की नंबर प्लेट का इस्तेमाल किया था उसे भी पुलिस ने बरामद कर लिया है.
सुरक्षाबलों ने गुरुवार सुबह जिस सफेद रंग की कार को कंट्रोल ब्लास्ट करके उड़ा दिया वह कार हिदायतुल्ला मलिक नाम के शख्स की है. उसके पिता का नाम एबी मलिक है. ये आतंकी शोपियां के शरतपोरा गांव का रहने वाला है. हिदायतुल्ला आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुलाई 2019 में जुड़ा था. कश्मीर पुलिस पहले ही कह चुकी है कि इस साजिश के पीछे मुख्य रूप से जैश‑ए-मोहम्मद का हाथ था जिसमें हिजबुल मुजाहिदीन भी उसकी मदद कर रहा था.
दरअसल सुरक्षाबलों के पास पिछले एक हफ्ते ये इनपुट मिला था कि जैश ए मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी, पुलवामा जैसे किसी बड़े हमले को अंजाम दे सकते हैं. जिसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस और CRPF के साथ‑साथ सेना भी अलर्ट पर थी. बुधवार की रात को पुलवामा जिले के राजपोरा इलाके में हाइवे पर नाकाबंदी के दौरान एक संदिग्ध गाड़ी को रुकने का इशारा किया गया, लेकिन जब ये कार नहीं रुकी तो पुलिस ने फायरिंग की. लेकिन आतंकवादी अंधेरे का फायदा उठाकर कार को हाइवे पर ही छोड़कर भाग गया.
जिसके बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बम डिस्पोजल स्वाड को बुला लिया. सुबह जब ये स्वाड मौके पर पहुंची तो उसे कार के अंदर विस्फोटक मिले. इस बड़ी आतंकवादी साजिश को नाकाम करने के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इससे जुड़े कई खुलासे किए हैं. ‑वेब