विदेश

इंसाफ के लिए अश्वेतों का प्रदर्शन जारी

Blacks

वॉशिगंटन। अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के अश्वेतों ने उग्र रूप धारण कर लिया है. पुलिस ने सोमवार को व्हाइट हाउस के पास प्रदर्शन कर रहे लोगों को तितर‑बितर करने के लिए आंसू गैस और रबर बुलेट का इस्तेमाल किया. इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हिंसा को रोकने के लिए सेना को तैनात करने की चेतावनी दी है. ट्रंप ने कहा कि अगर राज्यों ने हिंसा रोकने से इनकार किया तो मैं अमेरिकी सेना तैनात करूंगा ताकि लोगों के अधिकारों, संपत्ति और जान की सुरक्षा की जा सके.
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश के प्रमुख शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को तुरंत रोकने का आह्वान करते हुए कहा कि राज्यों के गवर्नरों को नेशनल गार्ड की तैनाती करनी चाहिए यदि वे ऐसा करने से मना करते हैं तो वह सेना की तैनाती करेंगे. मेयरों और गवर्नरों को हिंसा पर काबू पाने तक कानून का कड़ाई से पालन करना चाहिए. ट्रंप ने कहा, ’यदि कोई शहर या राज्य अमेरिकी नागरिकों की जान और संपत्ति को बचाने के लिए जरूरी कदम उठाने से मना करता है तो मैं अमेरिकी मिलेट्री (सेना) तैनात करूंगा और उनके लिए समस्या का तुरंत समाधान करूंगा.
जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद शुक्रवार की रात सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी व्हाइट हाउस के बाहर जमा हो गए थे. प्रदर्शनकारियों के बाहर इकट्ठा होने की खबर मिलते ही व्हाइट हाउस के सुरक्षा अधिकारियों द्वारा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को अंडरग्राउंड बंकर में ले जाया गया था. प्रदर्शनों का दौर रविवार और सोमवार को भी जारी रहा. जिसके बाद व्हाइट हाउस की तरफ से एक वीडियो ट्वीट किया गया जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति की तरफ से कहा गया है कि सड़कों पर जो अराजकता देखी जा रही है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. — वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement