Home » राफेल के आने से चीन को चुनौती तो पाक की नापाक हरकतों पर नजर
देश

राफेल के आने से चीन को चुनौती तो पाक की नापाक हरकतों पर नजर

Rafale

अंबाला। राफेल के लिए अंबाला एयरफोर्स पूरी तरह से तैयार है। इस लड़ाकू विमान के लिए एयरबेस विशेष प्रबंध किए गए हैं। राफेल के आने से चीन को चुनौती तो पाक की नापाक हरकतों पर नजर रहेगी। राफेल की अंबाला एयरबेस पर तैनाती से एयरफोर्स ही नहीं सैन्य शक्ति में भी इजाफा होगा। अंबाला से चंद मिनटों की उड़ान भरकर राफेल दुश्मन देश (पाकिस्तान और चीन) की सीमा पर पहुंच जाएगा। गोल्डन एरो को देश में राफेल की पहली स्क्वाड्रन होने का गौरव मिला है।
जिस राफेल पर दुनिया भर की निगाहें टिकी हैं वह बुधवार को अंबाला में तैनात किए जाएंगे। अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर बुनियादी ढांचा तैयार किया जा चुका है, लेकिन यहां पक्षियों के झुंड को लेकर विशेष निगरानी रखी जाएगी। जून 2019 में एयरबेस से उड़ान भरने के बाद जगुआर के सामने पक्षियों का झुंड आ गया था। पायलट ने विमान बचाने के लिए फ्यूल टैंक गिरा दिए थे। राफेल की तैनाती से इस तरह के खतरे को लेकर अधिकारी चिंतित हैं। अब लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि वे घरों की छतों पर पक्षियों के लिए दाना न रखें।
जगुआर के सामने पक्षियों का झुंड आने के बाद टले हादसे के बाद अधिकारी नींद से जाग गए। कई विभागों की कमेटी का गठन कर नोटिस जारी किए गए, लेकिन अब अधिकारी सुस्त पड़ गए हैं। — वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement