राज्य

अयोध्या की सीमा सील, मोदी जी कल रखेंगे राम मंदिर की नींव

Ayodhya

अयोध्या। भूमिपूजन में अब सिर्फ 24 घंटों का वक्त बचा है. भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान कल बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी राम मंदिर की नींव रखेंगे. इसी बीच अयोध्या में एसपीजी ने सुरक्षा संभाल ली है. अयोध्या की सीमा सील कर दी गई है. 5 अगस्त तक बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है. स्थानीय निवासियों को पहचान पत्र रखना अनिवार्य है।
राम मंदिर के भूमि पूजन में यूं तो सिर्फ 175 अतिथियों को निमंत्रण दिया गया है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में 137 करोड़ भारतीयों का प्रतिनिधित्व करेंगे. कुछ कार सेवकों के परिवार के सदस्यों को भी निमंत्रण दिया गया है. राम मंदिर के भूमिपूजन में देशभर से 2000 पवित्र स्थान से मिट्टी और जल अयोध्या पहुंचा है. 100 से अधिक नदियों का जल अयोध्या लाया गया है. अयोध्या में भूमि पूजन के दौरान 9 शिला के पत्थर भूमि पूजन में रखे जाएंगे. 9 शिलाओं का पूजन पीएम मोदी के हाथों होगा. 9 शिला 1989–90 के दौरान राम मंदिर आंदोलन से जुड़ी हैं. 9 शिलाओं में से एक शिला को गर्भगृह में रखा जाएगा, बाकी 8 अन्य स्थानों पर. 9 शिलाओं का इस्तेमाल नक्शा पास होने के बाद मंदिर निर्माण के वक्त किया जाएगा.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास मंच पर रहेंगे. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया की वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी आयु ज्यादा होने की वजह से नहीं आ पाएंगे जबकि बीजेपी नेता उमा भारती ने बताया कि वो कोरोना की वजह से सरयू किनारे रहकर ही कार्यक्रम की गवाह बनेंगी. — वेब