देश

एक और बच्ची के साथ निर्भया जैसी दरिंदगी

नई दिल्ली। पश्चिम विहार वेस्ट के पीरागढ़ी इलाके में एक 13 साल की मासूम के साथ हैवानियत का मामला सामने आया है। बच्ची कमरे में अकेली थी। इसी दौरान उसके साथ दरिंदगी हुई। विरोध करने पर न सिर्फ कैंची से उसके सिर और शरीर को गोद डाला, बल्कि अंदेशा है कि उसके साथ निर्भया जैसी वारदात को अंजाम दिया गया। खून से नहाई हुई बच्ची को मरा हुआ समझकर आरोपी वहां से फरार हो गया।
बच्ची के साथ क्या कुछ गुजरा होगा, यह इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि काफी देर तक बेसुध हालत में कमरे में सिसकती रही। उसके बाद जैसे-तैसे वह कमरे से घिसटते हुए बाहर आई और पड़ोसी के दरवाजे को खटखटाकर इशारे से खुद की हालत बयां करते हुए फिर से बेहोश हो गई। उसके निजी अंगों से लगातार खून बह रहा था। बच्ची की हालत देखकर पड़ोसी भी डर गए। तुरंत ही मामले की सूचना पुलिस को दी।
पश्चिम विहार वेस्ट थाने की पुलिस समेत सीनियर अफसर भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने बच्ची को फौरन संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया। उसके सिर और हिप्स में किसी धारदार हथियार से कई वार किए गए थे। बच्ची के इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम सरगर्मी से जुटी और सिर व कटे हुए हिस्सों में टांके लगाए, हाथों हाथ एम्स रेफर कर दिया। मौका ए वारदात का जायजा लेकर पुलिस ने हत्या की कोशिश और पॉक्सो समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश में संभावित ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी। लड़की ने जो बयान दिया है, उसके आधार पर वारदात में दो लड़के शामिल थे। पुलिस को अंदेशा है कि दोनों संदिग्ध आसपास के ही हैं।
एम्स में बच्ची की हालत स्थिर बनी हुई है। सूत्रों के मुताबिक, डॉक्टरी जांच में निजी अंगों में चोट भी है। पड़ोसियों ने उसके माता-पिता को हादसे की जानकारी दी। फिलहाल मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है। पुलिस अफसर के मुताबिक, बिल्डिंग में रहने वाले सभी मौजूद और गैरमौजूद लोगों की जांच पड़ताल की गई है। आसपास के सीसीटीवी कैमरों को भी कब्जे में लिया है। आरोपी जल्दी गिरफ्त में होंगे। — वेब