राज्य

सांप्रदायिक हिंसा की लपटों में जला बेंगलुरू

Benguluru


बेंगलुरु। बेंगलुरु के कुछ इलाकों में मंगलवार देर रात सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई। इस दौरान फायरिंग में 3 लोगों की मौत हो गई, जबकि 60 से ज्यादा पुलिसवाले जख्मी बताए जा रहे हैं. कर्नाटक की राजधानी में बेखौफ हिंसा का आलम इतना खतरनाक था कि कई इलाके युद्धक्षेत्र की तरह दिखाई दे रहे थे. कई इलाकों में जले हुए वाहन, टूटी हुई खिड़कियां और सूनी सड़कें खौफ की गवाही देती नजर आ रही थीं।
करीब 50 से 60 हजार लोगों की भीड़ इकट्ठा हुई थी जिसने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की. भीड़ ने आस‑पास जो कुछ मिला उसे आग लगा दी. सड़कों पर जले हुए वाहन और संपत्ति इसकी गवाही दे रहे हैं.
प्राप्त जानकारी के मुताबिक, उत्तरी बेंगलुरु के पुलकेशी नगर विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के एक कथित रिश्तेदार ने पैगंबर मोहम्मद को लेकर सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट किया था, जिसकी प्रतिक्रिया में ये हिंसा हुई.
इस हिंसा के बाद विधायक मूर्ति ने एक वीडियो मैसेज जारी कर लोगों से संयम बरतने की अपील की. विधायक ने कहा, ’मैं लोगों से अपील करता हूं कि कुछ उपद्रवियों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए. लड़ने-झगड़ने की कोई जरूरत नहीं है. हम सभी भाई हैं. हम कानून के अनुसार दोषियों को सजा दिलाएंगे. हम भी आपके साथ हैं. मैं अपने दोस्तों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं.’ ‑वेब