देश

रूस भारत के साथ मिलकर वैक्सीन का उत्पादन करना चाहता है


नई दिल्ली, एजेंसियां। रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) किरिल दिमित्रीव ने गुरुवार को कहा कि कोविड‑19 की वैक्सीन ’स्पुतनिक‑5’ के उत्पादन के लिए उनका देश भारत के साथ साझेदारी का इच्छुक है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने घोषणा की थी कि उनके देश ने दुनिया की पहली कोविड‑19 वैक्सीन विकसित कर ली है जो काफी प्रभावी है और बीमारी के खिलाफ स्थिर प्रतिरोधकता का निर्माण करती है। स्पुतनिक‑5 को गमालिया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी ने आरडीआइएफ के साथ मिलकर विकसित किया है। इस वैक्सीन का तीसरे चरण का ट्रायल नहीं किया गया है।
ऑनलाइन प्रेस ब्रीफिंग में दिमित्रीव ने कहा कि लैटिन अमेरिका, एशिया और पश्चिम एशिया के कई देश वैक्सीन के उत्पादन में रुचि दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा, ’वैक्सीन का उत्पादन बेहद अहम मसला है। वर्तमान में हम भारत के साथ साझेदारी के इच्छुक हैं। हमारा मानना है कि वे गमालिया वैक्सीन के उत्पादन में सक्षम हैं। यह कहना बेहद अहम है कि वैक्सीन उत्पादन की ऐसी साझेदारियां हमें मांग को पूरा करने में सक्षम बनाएंगी।’ दिमित्रीव ने कहा, ’हम पांच से भी ज्यादा देशों में वैक्सीन का उत्पादन करने की योजना बना रहे हैं। वैक्सीन की आपूर्ति के लिए एशिया, लैटिन अमेरिका, इटली और दुनिया के अन्य हिस्सों से भारी मांग है।’ ‑वेब