विदेश

ऑक्सफर्ड की वैक्सीन का ट्रायल रुका

Oxford Vaccine

लंदन। कोरोना वायरस महमारी से निपटने के प्रयासों को बड़ा झटका लगा है। कोरोना वायरस के खात्मे के लिए सबसे ज्यादा उम्मीद जगा रही ऑक्सफर्ड की वैक्सीन के तीसरे और अंतिम चरण के ट्रायल को रोक दिया गया है। बताया जा रहा है कि ब्रिटेन में एक व्यक्ति को ऑक्सफर्ड की कोरोना वायरस वैक्सीन लगाई गई थी और उसके शरीर में गंभीर दुष्प्रभाव देखे गए। इसके बाद कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को रोक दिया गया है।
ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश‑स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनिका की यह वैक्सीन पूरी दुनिया के लिए उम्मीद का किरण बन गई थी और भारत में भी इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो गया था। इस वैक्सीन को ब्रिटेन में तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान एक शख्स को लगाया गया था लेकिन उसके अंदर गंभीर दुष्प्रभाव देखे गए हैं। गंभीर दुष्प्रभाव से आशय यह है कि वैक्सीन या दवा के देने के बाद मरीज को अस्पताल ले जाना पड़ा है और यह जानलेवा या बेहद घातक दुष्प्रभाव होता है।
यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मरीज में किस तरह का दुष्प्रभाव देखा गया है लेकिन इस पूरे मामले से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि मरीज के जल्द ही ठीक होने की उम्मीद है। वैक्सीन के ट्रायल के दौरान उसे रोका जाना कोई नई बात नहीं है लेकिन इससे दुनियाभर में जल्द से जल्द कोरोना वायरस वैक्सीन मलिने के प्रयासों को बड़ा झटका लगा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनिका की यह वैक्सीन रेस में सबसे आगे चल रही थी। ‑वेब