लखनऊ

इंजीनियरिंग कॉलेज बिजली घर के कर्मचारी बेलगाम

LESA

लखनऊ, जेएनएन। राजधानी लखनऊ में बिजली जाने के बाद अगर आप किसी बिजली घर में फोन करते हैं और पूछते हैं कि बिजली क्यों गई है और कितने बजे आएगी ? आपके इन सवालों का जवाब तो मिलना दूर, आपके साथ वह कर्मचारी अभद्रता कर सकता है और आपने अगर किसी वरिष्ठ अभियंता या ऊर्जा मंत्री से शिकायत करने की बात की तो उसकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।
इंजीनियरिंग कॉलेज बिजली घर के कर्मचारी बेलगाम हो गए हैं। वह कहते नहीं थकते कि आपको अगर ऊर्जा मंत्री से शिकायत करनी है तो कर दो, लेकिन बिजली कर्मचारी अपने हिसाब से ही काम करेंगे। यह हाल लखनऊ का है। हालांकि, पूरे मामले की जांच के निर्देश रहीमनगर के अधिशासी अभियंता डीकेडी द्विवेदी ने दिए हैं।
उधर, पुरनिया बिजली घर से पोषित 63 केवीए ट्रांसफार्मर में आग लग गई, इसके कारण पास में रखे 630 केवीए का ट्रांसफार्मर भी प्रभावित हुआ और दोपहर दो बजे गई बिजली देर रात आ सकी। इसके कारण अलीगंज सेक्टर एन व आसपास क्षेत्र में बिजली संकट रहा। जानकीपुरम सेक्टर एच के ब्राइट वे स्कूल के पास भवन संख्या 2ध्92 के आसपास स्थित दर्जनों मकानों में गुरुवार रात 12.20 बजे बिजली चली गई। स्थानीय उपभोक्ताओं ने जब बिजली घर फोन करके बिजली जाने का कारण पूछा गया तो संबंधित कर्मचारी ने कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया। यही नहीं कई बार फोन करने पर बताया गया कि टीम खाली होगी तो दिखवा लेंगे। ‑वेब