विदेश

कोरोना लहरः ब्रिटेन में सख्त लाॅकडाउन का ऐलान

Britain

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के मामलों में फिर से आई तेजी के बीच कई शहरों में सख्त लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस ने भी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए संक्रमण को काबू करने के प्रयास तेज कर दिए हैं। वेल्स, ग्रेटर मैनचेस्टर, लिवरपूल सिटी, लंकाशायर, साउथ यॉर्कशायर और स्कॉर्टलैंड में लोगों को बाहर निकलने पर भी रोक लगा दी गई है।
ब्रिटेन में कोरोना वायरस से अब तक 830,998 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 44,571 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से 224 से ज्यादा लोगों ने पिछले 24 घंटे में दम तोड़ा है, जबकि 20530 नए केस सामने आए हैं। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए ही कई इलाकों में लॉकडाउन को दोबारा लगाने का निर्णय लिया गया है। केवल ब्रिटेन ही नहीं, यूरोप के कई देशों में कोरोना का कहर इन दिनों तेजी से बढ़ा है। अकेले फ्रांस में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 40 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं।
ब्रिटिश सरकार के अनुसार, वेल्स में भी पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है। ग्रेटर मैनचेस्टर की 28 लाख की आबादी भी मध्यरात्रि से इंग्लैंड के लिवरपूल सिटी क्षेत्र और लंकाशायर के सख्त प्रतिबंधों में शामिल हो गई, जिसमें करीब‑करीब सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान भी बंद रहेंगे। साउथ यॉर्कशायर का इलाका भी शनिवार से तीसरी श्रेणी के सख्त प्रतिबंधों के दायरे में आ जाएगा। इस तरह करीब 70 लाख से भी अधिक की आबादी सख्त लॉकडाउन की जद में आएगी।
कोविड‑19 को लेकर जारी चेतावनी की तीसरी श्रेणी का मतलब है कि लोगों के मिलने जुलने पर नियंत्रण होगा। साथ ही पब और बार तब तक संचालित नहीं किए जा सकते, जब तक कि वे भोजन उपलब्ध नहीं करा रहे हों। इस श्रेणी में आने वाले कई इलाकों में तो व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने पर भी रोक है। ‑वेब