Home » किसानों के साथ हो रहे अन्याय से आह्त हो कर ग्रन्थी संत बाबा राम सिंह ने खुद को मारी गोली
देश

किसानों के साथ हो रहे अन्याय से आह्त हो कर ग्रन्थी संत बाबा राम सिंह ने खुद को मारी गोली

Sant Baba Ram Singh

नई दिल्ली। सिंघू बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों में से करनाल के एक किसान की आत्महत्या करने की खबर मिली है. सिंघू बॉर्डर पर आत्महत्या करने वाले किसान ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है. मिली जानकारी के मुताबिक, करनाल से आए संत बाबा राम सिंह ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी की है. सुसाइड नोट में चल रहे किसान आंदोलन के प्रति सरकार के रवैये को लेकर बात कही है.
मृतक ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है, ’मैं किसानों की तकलीफ को महसूस करता हूं जो अपने अधकिारों के लिए लड़ रहे हैं. मैं उनका दुख समझता हूं क्योंकि सरकार उनके साथ न्याय नहीं कर रही. अन्याय करना पाप है, लेकिन अन्याय सहन करना भी पाप है. किसानों के समर्थन में कुछ लोगों ने सरकार को अपने पुरस्कार लौटा दिए. मैंने खुद को ही कुर्बान करने का फैसला किया है.’
पुलिस ने बताया कि 65 वर्षीय बाबा राम सिंह ने खुद को गोली मार ली. सोनीपत के डेप्यूटी पुलिस कमिश्नर श्याम लाल पूनिया ने बताया, ’उन्हें पानीपत के पार्क अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषति कर दिया.’ उन्होंने कहा कि उनके पार्थिव शरीर को करनाल भेजा गया है जहां वो रहते थे. ‑वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement