Home » कोरोना संक्रमण फैलने से स्कूल प्रबंधन सतर्क
लखनऊ

कोरोना संक्रमण फैलने से स्कूल प्रबंधन सतर्क

यूपी की राजधानी लखनऊ के लामार्टिनियर बॉयज कॉलेज में बुधवार को कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने के बाद बाकी स्कूल प्रबंधन भी सतर्क हो गए हैं। कई निजी स्कूलों ने हर क्लास में 20 के बजाय 12 बच्चों को ही बैठाने का फैसला किया है।
इस बीच कई निजी स्कूल एक मार्च से पहली से पांचवीं तक के बच्चों को बुलाने से कतरा रहे हैं औरऑनलाइन क्लास ही जारी रखने की दलील दे रहे हैं।
पायनियर मॉन्टेसरी स्कूल की प्रिंसिपल शर्मिला सिंह ने बताया कि किसी भी शाखा में 1 मार्च से कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को नहीं बुलाया जाएगा। हम नए सेशन के बाद ही बच्चों को स्कूल बुलाने पर विचार कर रहे हैं।
वहीं, 6 से 8 तक की हर क्लास में अब 20 बच्चों के बजाय 12 बच्चों को बैठाने का इंतजाम किया जाएगा। इससे सोशल डिस्टेंसिंग बेहतर होगी।
क्राइस्ट चर्च कॉलेज के प्रिंसिपल राकेश चत्री ने बताया कि स्कूल में छोटे बच्चों की कक्षाएं ऑनलाइन ही चल रही हैं। नया सेशन भी ऑनलाइन ही शुरू किया गया है।
इस वक्त केवल 9 और 11 के छात्र स्कूल आ रहे हैं। वहीं, जीडी गोयनका के चेयरमैन सर्वेश गोयल ने बताया कि स्कूल में अभी कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों को नहीं बुलाया जाएगा।
अवध कॉलिजिएट की प्रिंसिपल जतिंदर वालिया ने बताया कि बच्चों की सुरक्षा के लिए हफ्ते में एक दिन‑एक क्लास चलाने का फैसला किया गया है। एक मार्च को सिर्फ कक्षा 5 के बच्चों को बुलाएंगे।
इसके बाद 4, 3, दो और आखिरी दिन कक्षा एक के बच्चों को बुलाया जाएगा। इस तरह शिक्षकों को भी आसानी होगी और सोशल डिस्टेंसिंग भी कायम रहेगी।
सेंट जोसेफ स्कूल के प्रबंध निदेशक अनिल अग्रवाल ने बताया कि एक मार्च से क्लास शुरू की जाएंगी, लेकिन इंतजाम में थोड़ा बदलाव किया गया है। कक्षा एक और दो को इनॉगरल रूप में बुलाकर शिक्षकों और स्कूल से रूबरू करवा दिया जाएगा। इसके बाद उन्हें भेजना-न भेजना अभिभावकों की इच्छा पर निर्भर होगा। ‑वेब