Home » एलोपैथी और आयुर्वेद पर बाबा रामदेव की जुबानी जंग
देश

एलोपैथी और आयुर्वेद पर बाबा रामदेव की जुबानी जंग

बाबा रामदेव साधकों के साथ प्रतिदिन योग शिविर लगाते हैं। योग शिविर में बाबा रामदेव बीते तीन दिनों से ‘ड्रग माफिया का भ्रमजाल बनाम योग, आयुर्वेद और नेचुरोपैथी से रोगों के स्थायी समाधान’ मुहिम चला रहे हैं। शुक्रवार को उन्होंने साधकों से योग शिविर में ही यह बात कही।
बाबा रामदेव ने कहा कि योग आज घर-घर हो रहा है। दुनियाभर में लोग इसे अपना रहे हैं। कोरोनाकाल में लोग योग से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा रहे हैं। योग की तुलना किसी से नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि एलोपैथी तो 200 साल का बच्चा है।
उन्होंने सवाल किया कि क्या उससे पहले धरती पर इंसान जिंदा नहीं रहते थे। उस वक्त तो 200 साल तक इंसान जिंदा रहते थे। योग से बड़ा कोई साइंस नहीं है। योग शिविर के लाइव प्रसारण के अलावा फेसबुक से लेकर ट्वीटर पर भी जारी किया गया है। जिसमें हजारों लोग कमेंट कर रहे हैं। कई लोग समर्थन कर रहे हैं तो कई लोग विरोध भी जता रहे हैं।
बाबा बोले कुछ तो इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को इल्लीगल मेडिकल एसोसिएशन कहने लग गए हैं। बोले, मैं नहीं बोल रहा। मैंने नहीं कहा। लठ्ठ मारना है तो उसे मारना, जिसने कहा है। बाबा रामदेव ने कहा कि 90 फीसदी अच्छे डॉक्टर मुझसे सहमत हैं। आजकल वायरल फैलने के साथ‑साथ वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। ‑वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement