Home » रिपोर्ट के मुताबिक देश की 80 फीसदी गरीब आबादी गांवों में
देश

रिपोर्ट के मुताबिक देश की 80 फीसदी गरीब आबादी गांवों में

ई दिल्ली। देश की 125 करो़ड़ की आबादी में से करीब 27 करोड़ से अधिक लोग गरीबी में अपना जीवन यापन कर रहे हैं। विश्व बैंक की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश की 80 फीसदी गरीब आबादी गांवों में रहती है।
रिपोर्ट के मुताबिक देश के हर 5 नागरिकों में एक गरीबी रेखा में आता है। 2012 तक के लिए जारी इस रिपोर्ट के अनुसार जहां 2004 में इनकी संख्या 38.9 फीसदी थी। वहीं 2011 में यह आंकड़ा 21.2 फीसदी पर आ गया है। सबसे ज्यादा गरीब भी अनुसूचित जाति-जनजाति से हैं।
यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, छत्तीसगढ़ और ओड़िशा में सबसे ज्यादा गरीब लोग रहते हैं। इन राज्यों में देश की 62 फीसदी गरीब जनता रहती है। वैसे इन राज्यों में देश की 45 फीसदी जनता रहती है।
रिपोर्ट के मुताबिक, 2012 तक देश में 6 करोड़ गरीब यूपी में रहते थे। बिहार में 3.6 करोड़, एमपी में 2.4 करोड़, झारखंड में 1.3 करोड़ और राजस्थान में 1 करोड़ लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतीत कर रहे थे। आंकड़ों के अनुसार देश की 25 फीसदी गरीब जनता गांवों में और 14 फीसदी शहरी क्षेत्रों में रहती है। इनमें से 27 फीसदी छोटे गांवों में, 19 फीसदी बड़े गांवों में, 17 फीसदी छोटे शहरों में और 6 फीसदी बड़े शहरों में रहते थे।
रिपोर्ट के मुताबिकि 56 फीसदी गरीब लोग खाने पर खर्च करते हैं। 13 फीसदी लाइट और ईंधन पर, 6 फीसदी शिक्षा पर और 25 फीसदी अन्य कार्यों पर खर्च करते हैं। अगर जातियों के हिसाब से बात करें तो फिर 43 फीसदी एसटी, 29 फीसदी एससी, 21 फीसदी ओबीसी और 12 फीसदी अन्य जातियों से आते हैं।
विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक ज्यादातर गरीब मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते हैं। 34 फीसदी खेतों पर मजदूरी करते हैं, 30 फीसदी अपने खेतों पर कार्य करते हैं और 17 फीसदी दुसरे क्षेत्र में मजदूरी कर जीवन यापन कर रहे हैं। -वेब

About the author

BLUE SPARK NEWS

Lucknow, U.P. India. Asian Country.

273 Comments

Click here to post a comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement