Home » डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार निचले स्तर पर
देश

डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार निचले स्तर पर

रुपया लगातार गिरावट के नए रेकॉर्ड बना रहा है. डॉलर के मुकाबले रुपया 70 के आंकड़े को भी पार कर गया. ऐसे में इसका असर कारोबारी जगत पर तो हो ही रहा है, विदेश में नौकरी या पढ़ाई के लिए जाने वाले लोगों, एनआरआई, विदेश से आने वाले धन पर निर्भर लोग, विदेश में पर्यटन या चिकित्सा के लिए जाने वाले लोग भी प्रभावित हो रहे हैं.
इस साल 1 जनवरी को डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 63.38 के स्तर पर था. इसके बाद से इसमें ज्यादातर गिरावट का ही दौर देखा गया. शुरुआती कारोबार में रुपया अपने ऐतिहासिक निचले स्तर 70.08 पर पहुंच गया. इस साल की शुरुआत से रुपये में अब तक 10 फीसदी और इस महीने में अब तक 2.4 फीसदी की गिरावट आ चुकी है.
रुपये में गिरावट के इस मौके का फायदा उठाते हुए जो लोग विदेश में रहते हैं उन्हें अपनी 50 से 60 फीसदी बचत को भारतीय रुपये में बदल लेना चाहिए.
नुकसान से बचने के लिए एजुकेशन फीस का भुगतान अभी कर सकते हैं, ताकि रुपये में और गिरावट के जोखिम का सामना किया जा सके. पेरेंट्स यह बात गौर कर सकते हैं कि जब भी रुपये में मजबूती आए, वे उसी समय अपने बच्चे के खर्च के किश्त की रकम उसके खाते में डाल दें. -वेब

Advertisement

Advertisement

Advertisement