Home » डीएम ने लखनऊ एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों के लिए जारी किया प्रोटोकॉल
राज्य

डीएम ने लखनऊ एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों के लिए जारी किया प्रोटोकॉल

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के डीएम ने लखनऊ एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों के लिए प्रोटोकॉल जारी किए हैं। थर्मल स्कैनिंग में जिन मरीजों में लक्षण दिखेंगे उनकी आरटी-पीसीआर जांच कराई जाएगी, इसके लिए उन्हें कोई शुल्क नहीं चुकाना होगा। इसके अलावा 10 फीसदी यात्रियों की जांच रैंडम आधार पर करने के लिए कहा गया है।
मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर कहा कि हम इससे प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच और क्वारंटीन अनिवार्य किया गया है। आईसीयू बेड, ऑक्सीजन बेड और मैनपावर बढ़ाई गई है और हम मामलों में अचानक तेजी आने पर ऐसी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार हैं। वहीं, स्कूलों के खुलने को लेकर मेयर ने कहा कि स्कूल एक दिसंबर से खुलेंगे। लेकिन अभी तक बच्चों के टीकाकरण को अनुमति नहीं दी गई है ऐसे में शायद अभिभावक अपने बच्चों को न भेजें। ऑनलाइन क्लासेज चलती रहेंगी।
केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने कहा कि हम वर्तमान हालात को लेकर विचार‑विमर्श करेंगे और हर संभव कदम उठाएंगे। हमने केंद्र सरकार से 18 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू करने की मांग की है। हमने उनसे बूस्टर खुराकें भी उपलब्ध कराने के लिए कहा है। लेकिन हम अभी उनके फैसले का इंतजार कर रहे हैं।
केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने कहा कि जीनोमिक सर्विलांस लगातार जारी है। नए वैरिएंट (ओमिक्रॉन) से प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों को प्रदेश में आने पर आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी और 14 दिन के लिए क्वारंटीन में रहना होगा। हमने चार अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या बढ़ाई है।
ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर कर्नाटक सरकार ने भी सतर्कता दिखाई है। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि हम कोविड‑19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को देखते हुए स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। हमने वैरिएंट की पुष्टि के लिए कुछ सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे हैं। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट पर कोविड‑19 स्क्रीनिंग भी बढ़ाई जाएगी। — वेब